Gemini (Mithun)

नमस्कार, गीतांजलि एस्ट्रो के राशिफ़ल  में आपका स्वागत है, यहां पर आप साप्ताहिक और मासिक एवं बार्षिकराशिफल इस पेज के नीचे के अनुभाग में दिया गया है, इसके माध्यम से आप आने वाले सप्ताह और महीने के राशिफल के अनुसार अपने कार्यों की रूपरेखाएँ तैयार कर सकते  हैं। यदि आपके ग्रह अनुकूल नहीं है यानी आपकी राशिफ़ल के अनुसार आपको कष्ट या परेशानी का योग बना हो तो सप्ताह या महीने की शुरुआत होने से पहले हमें पता चल जाय तो हम  उपाय कर के आनेवाली परेशानियों से बच सकते हैं ।

मिथुन राशि द्विस्वभाव वाली राशि है। इस राशि के जातक बुद्धिजीवी और स्वतंत्र होते हैं, साथ ही ये लोग प्यारे और बहुमुखी प्रतिभा के धनी होते हैं। मिथुन राशि के जातक प्रेम संबंधों में कोई भी चुनौती स्वीकार करने के लिए तैयार हो जाते हैं और कुछ विदेशी कार्य करते हैं। ये एक क्षण में क्रोधित हो जाते हैं और दूसरे ही क्षण में शांत हो जाते हैं। मिथुन राशि के लोगों के द्वि स्वभाव के कारण से उन्हें समझना थोड़ा मुश्किल होता है। समाज में इन लोगों को बहुत पसंद किया जाता है। क्योंकि ये जानते हैं कि लोगों को कैसे खुश रखा जाता है। मिथुन राशि के जातक रोमांटिक किस्म के व्यक्ति होते हैं। मिथुन राशि का स्वामी बुध ग्रह होता है। बुध परिवर्तन और संचार का कारक है इसलिए मिथुन राशि के लोग की भाषा शैली अच्छी होती है और वे हर प्रकार परिस्थिति का सामना करने के लिए तैयार रहते हैं। इस राशि के लोग आदर्शवादी और हंसमुख होते हैं, साथ ही अपनी इच्छा और रुचि मित्रों के साथ साझा करते हैं। मिथुन राशि के जातकों की भाषा और बोली बहुत अच्छी होती है। ये लोग चतुर होते हैं और अपने विचारों से दूसरों को प्रेरित करते हैं। ये लोग कार्य स्थल पर बड़ी ही कुशलता के साथ अपने कार्यों को पूरा करते हैं। मिथुन राशि के जातक मीडिया और कलात्मक क्षेत्र में बहुत अच्छे प्रदर्शन करते हैं।

मिथुन राशि २००००२११

मिथुन राशिफल 2021 के अनुसार, इस वर्ष की शुरुआत में आपकी राशि के दशम भाव के स्वामी, गुरु बृहस्पति वर्ष के पहले महीने में आपकी अष्टम भाव में विराजमान रहेंगे, जिसके बाद वे गोचर करते हुए अप्रैल के महीने में आपकी नवम भाव में अंतर करेंगे। शनि देव भी इस पूरे वर्ष आपकी अष्टम भाव विराजमान रहने वाले हैं। वहीं छाया ग्रह केतु और राहु क्रमशः: आपके छठे और दूसरे भाव में साल भर उपस्थित रहेंगे। लाल ग्रह मंगल भी 6 सितंबर से 5 दिसंबर के बीच आपकी चतुर्थ और पंचम भाव को सक्रिय करेगा जबकि वर्ष की शुरुआत में सूर्य और बुध आपकी सप्तम भाव से होते हैं आपकी राशि के अलग-अलग भावों को वर्ष भर प्रभावित करेंगे।

इस तरह के प्रस्तावों की इन स्थितियों के कारण आपको अपने करियर में बहुत उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है। इस दौरान नौकरी पेशा जातकों को अपने सहकर्मियों की मदद नहीं मिलने में परेशानी होगी, जिससे उनकी पदोन्नति तो होगी, लेकिन इसके लिए थोड़ा इंतजार करना होगा। वर्ण जातकों के लिए समय अच्छा रहेगा। लेकिन कोई भी बड़ा लेन-देन करते समय विशेष सावधानी बरतें।

आर्थिक जीवन में साल की शुरुआत बहुत अच्छी तरह से बीच में आप कुछ निराशा हाथ लगेगी, क्योंकि आपको धन हानि होने के योग बनते नजर आए हैं।) छात्रों को इस वर्ष कड़ी मेहनत और प्रयासों के बाद ही सफलता मिलेगी। ऐसे में अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करते हुए केवल मेहनत करें। वर्ष 2021 के अनुसार पारिवारिक जीवन में घर के सभी सदस्यों का सहयोग मिलेगा। यदि आप शादीशुदा हैं तो जीवनसाथी और आपके बीच अपनी-अपनी चीजों को लेकर अहम का टकराव होगा।

संतान को मिले-जुले परिणाम मिलेंगे लेकिन प्रेमी जातकों के जीवन में इस साल कई महत्वपूर्ण बदलाव नज़र आए। सेहत के लिए ये साल चिंताजनक है। ऐसे में आपको अपनी सेहत के प्रति विशेष सावधानी बरतनी होगी।

सप्ताह या महीने की शुरुआत होने से पहले हमें पता चल रहा है तो हम घरेलू उपाय कर के आनेवाली परेशानियों से बच सकते हैं।

 

उपायः

शनिवार का व्रत करें और शनि स्तोत्र का पाठ करें। तिल का दान करें।

आचार्य जी से ओनलाइन बात करने के लिए 501 रुपये दक्षिणा देकर सूचना प्राप्त कर सकते हैं पेट या गुगलपेय द्वारा 09990535151

नोट: – यदि आप चाहते हैं कि आपको प्रतिदिन का राशिफल मिले तो आप इस पृष्ठ के नीचे अभी तक लें, अपना व्हाट्सएप नंबरॉय कर दे, जिससे आपको दैनिक राशिफ़ल मिल सके।